No icon

किसानों को करोड़ों का चूना लगाने वाली कंपनी के संचालकों को ही बचाने में जुटी है बहराइच पुलिस

चौपाल न्यूज नेटवर्क
बहराइच। जनपद कि किसानों के साथ हो रही है ठगी और पुलिस मूकदर्शक बनी बैठी है। एलोवेरा की खेती से आर्थिक स्वावलंबन का सपना दिखाकर किसानों का करोड़ों रुपये की ठगी करने वाले कंपनी संचालक पर पुलिस मेहरबान है। हालत यह है कि विवेचक ने फर्जी रिपोर्ट लगाकर मामले को दबा दिया। सीएम पोर्टल पर दर्ज विवेचक की रिपोर्ट देखकर पीड़ित किसान दंग हैं। यह हाल तब है, जब शिकायतीपत्र के साथ कंपनी के बैंकों के कालातीत चेक व अन्य फर्जीवाड़ा से जुड़े सबूत भी पुलिस को सौंपे गए थे। बावजूद इसके पुलिस दोषी कंपनी के संचालकों के खिलाफ कोई भी कार्यवाई करने से बच रही है।
मामला वर्ष 2017-18 का है। मां मनी रत्नम हर्बल एंड बायोटेक नाम की कंपनी ने उद्यान विभाग के जरिए 40 से अधिक किसानों से संपर्क कर एलोवेरा खेती के लिए करार किया था। खाद, बीज से लेकर उपज बिक्री का करार में हवाला दिया गया था। किसानों का आरोप है कि शहर के खत्रीपुरा में किराए का मकान लेकर कार्यालय खोला गया। जब तक कंपनी का खाता बैंक में नहीं खुला, किसानों से नकद रुपये लिए गए। इसके बाद खातों के जरिए भुगतान लिया गया। इस दौरान कंपनी ने किसानों से लगभग पांच करोड़ रुपये वसूल लिए। रिफंड के नाम पर उन्हें एचडीएफसी व आइडीबीआइ बैंक के कई चेक दिए। सभी चेक बैंक में बाउंस हो गए। किसान संचालक से संपर्क किया तो फोन बंद कर लिया गया। कार्यालय पहुंचे तो ताला देखकर हैरान रह गए। काफी जिद्दोजहद के बाद संचालक को किसान ढूंढ़ निकाले और कोतवाली नगर में तहरीर दी। शुरुआत में पुलिस एक्टिव हुई। इसके बाद मामले पर पर्दा डाल दिया गया।
पुलिस की कार्यशैली से उदासीन/परेशान किसानों ने आइजीआरएस व सीएम पोर्टल पर शिकायत दर्ज कराई। मामले को एसपी डॉ. विपिन कुमार मिश्र ने संज्ञान में लेकर कार्रवाई के निर्देश दिए। पुलिस अधीक्षक महोदय के निर्देश के बावजूद कार्रवाई तो दूर विवेचक जितेंद्र कुमार ने साक्ष्य का परीक्षण किए बिना ही किसानों पर आरोप मढ़ फर्जी रिपोर्ट लगा दी। 

Comment As:

Comment (0)