No icon

सरकार की मंशा को धता बता सीएचसी मिहिंपुरवा उड़ा रहा है धूएं का गुब्बार

अमरेन्द्र वर्मा

बहराइच । एक तरफ उत्तर प्रदेश की योगी सरकार हवा में प्रदूषण को लेकर इतना गंभीर है कि दीपावली पर पटाखे जलाने तक पर प्रतिबंध लगा रही है, किसानों को खेत में पराली जलाने पर जुर्माने तक का प्राविधान करने पर विचार किया जा रहा है तो वहीं सरकार के जिम्मेदार अफसर ही सरकार के मंशे को धता बता रहे हैं। सरकारी फैसले से बेपरवाह यह अफसर शासन/प्रशासन के नियम-कानून पर ताक पर रखकर अपने सुविधा के अनुसार काम करते हैं और जब बात जनता की आती है तो नियम कायदे का पाठ पढ़ाना शुरू कर देते हैं।

कुछ ऐसा ही नजारा जनपद के मिहिंपुरवा स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर आज सुबह देखने को मिला। वायु प्रदूषण भयावह स्थिति को देखते हुए राज्य सरकार जहां एक तरफ तमाम कोशिशें कर इसे कम करने की कोशिश में लगी हुई है, वहीं मिहिंपुरवा स्वास्थ्य केंद्र में जगह-जगह कूड़े-कबाड़ में आग लगाकर वायु को प्रदूषित किया जा रहा है। चौपाल चर्चा के स्थानीय प्रतिनिधि की नजर जब इस जलते कबाड़ और धुंए के गुब्बार पर पड़ा तो उसने सामुदायिक केंद्र जाकर इसके बारे में पूछताछ करना चाहा। लेकिन मौके पर कोई भी व्यक्ति इस बारे में कुछ बता नहीं सका।

हालांकि बाद में सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी डा. अनुराग वर्मा से संपर्क कर इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने इस बारे में किसी जानकारी से अपनी अनभिज्ञता जाहिर करते हुए कहा कि मैं इसके बारे में पता कराता हूं। यह पूछे जाने पर कि सरकार इस संकट से उबरने के लिए तमाम कोशिशें कर रही है और आप जैसे जिम्मेदार लोग ही सरकार के मंशे का माखौल उड़ा रहे हैं उन्होंने आश्‍वस्त किया कि आगे से इस बात का ध्यान रखा जायेगा कि ऐसा न हो।

 

Comment As:

Comment (0)